मुख्य बातम्या:
पत्रकारांच्या स्थैर्यासाठी महाराष्ट्र शासन सदैव त्यांच्या पाठिशी - मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस# #दिल्लीत ३१ जानेवारीला पहिल्या ‘मुकनायक पुरस्काराचे’ वितरण - सामाजिक न्याय मंत्री राजकुमार बडोले# #गोंदिया येथे लवकरच विमान सेवा सुरु होणार - सामाजिक न्यायमंत्री राजकुमार बडोले# #ट्रॅक्टर मालकावर ठोठावला १ लाखाचा दंड: महालगाव येथील घटना# #भारतीय मानवाधिकार परिषदेने केला नक्षलवाद्यांचा निषेध# #सामान्य नागरिकांपर्यंत आरोग्य सुविधा पोहचवा – खा. मधुकर कुकडे# #शेतकऱ्यांच्या सिंचन व्यवस्थेला प्रथम प्राधान्य-ना.बडोले# #समायोजनच्या नावावर बदली झालेल्या विषयतज्ज्ञांची थट्टाच!# #मुख्यमंत्री व वित्तमंत्र्यांनी आश्वासनाची अंमलबजावणी करावी-प्रतिमा मेश्राम# #महाराष्ट्रातील दोघांना ‘प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार’ प्रदान

बीजापुर में सुरक्षाबलों ने 7 नक्सलियों को मार गिराया

बीजापुर,दि.26(न्यूज एजंसी)।बीजापुर में छत्तीसगढ़-तेलंगाना सीमा पर शुक्रवार को हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने 7 नक्सलियों को मार गिराया। मारे गए नक्सलियों में 5 महिला नक्सली शामिल हैं। सुबह से शुरू हुई मुठभेड़ अभी जारी है। मुठभेड़ में चार जवान घायल हुए हैं। बता दें कि इससे पहले सुरक्षाबलों ने 22 अप्रैल गढ़चिरौली में 37 नक्सलियों को ढ़ेर किया था।बस्तर संभाग के आईजी विवेकानंद सिन्‍हा के मुताबिक, शुक्रवार को सुबह सर्च ऑपरेशन के दौरान भद्रकाली थाने के पास आईपेंटा में सुरक्षाबल और नक्सलियों में मुठभेड़ हुई। सुरक्षाबलों ने अभी तक एक एसएलआर, एक थ्री नाॅट थ्री की रायफल, एक रिवाल्वर, 4 एसबीबीएल, 6 राकेट लाॅन्चर, 3 ग्रेनेड बरामद किया है। इस ऑपरेशन को ग्रे-हाउंड टीम ने अंजाम दिया है।

पिछले 8 सालों में बड़े नक्सली हमले
– 13 मार्च 2018 को नक्सलियों ने आईईडी विस्फोट कर एंटी लैंड माइन व्हीकल को उड़ा दिया था। इसमें 9 जवान शहीद और 3 गंभीर रूप से घायल हो गए थे।
– 24 अप्रैल 2017 को सुकमा के दोरनापाल में सीआरपीएफ की 74वीं बटालियन रोड ओपनिंग पार्टी के रूप में निकली थी। नक्सलियों ने एंबुश में फंसा हमला कर दिया जिसमें 25 जवान शहीद हो गए और 7 घायल हो गए।
– 11 मार्च 2017 मार्च को नक्सलियों ने सीआरपीएफ की 219वीं बटालियन को निशाना बनाया था जिसमें 11 जवान शहीद हो गए थे।
– मार्च 2017 में बस्तर में हुए नक्सली हमले में CRPF की 219वीं बटालियन के जवान शहीद हो गए थे।
– अप्रैल 2015 में छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में हुए नक्सली हमले में नक्सलियों के बिछाए बारूदी सुरंग के फटने से सुरक्षा बल के 4 जवान शहीद हो गए जबकि 8 घायल हो गए थे।
– 12 अप्रैल 2014 को छत्तीसगढ़ के बस्तर में नक्सली हमला हुआ था जिसमें 5 जवान शहीद हो गए थे और 14 लोगों की मौत हो गई थी।
– 11 मार्च 2014 को झीरम घाटी में फिर हमला हुआ था जिसमें 14 जवान शहीद हो गए थे।
– 25 मई 2013 झीरम घाटी में नक्सलियों ने कांग्रेस पार्टी के परिवर्तन यात्रा पर हमला किया था। जिसमें कांग्रेस के शीर्ष नेताओं सहित 30 से ज्यादा लोग मारे गए थे।
– 6 अप्रैल 2010 को छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में सबसे बड़ा नक्सली हमला हुआ था जिसमें 76 जवान शहीद हो गए थे।

Share