मुख्य बातम्या:
अवैध रेतीवाहतूकीवर आळा घालण्यासाठी जिल्हास्तरीय समितीची बैठक# #परिवर्तन स्पेशल स्कूल (पीओ आरडीएसी)  सफदरजंग एन्क्लेव में बच्चों की स्पर्धा# #अपघाताला आळा घालण्यासाठी अतिक्रमणे हटविण्यासोबतच नियमांची अंमलबजावणी करा- लक्ष्मीनारायण मिश्रा# #रविवारी निरीक्षक प्रमाणित शाळा व तत्सम पदे परीक्षा# #अनुसूचित जाती व नवबौध्द घटकातील उमेदवारांसाठी सैन्य व पोलीस भरती पुर्व प्रशिक्षण# #२१ डिसेंबरला गोरेगाव येथे प्रधानमंत्री मुद्रा योजना महिला मेळावा# #पदाच्या दुरुपयोगप्रकरणी सरपंच व उपसरपंच पायउतार# #सिहोरा-बपेरा परिसरातील वाळू घाटावर वाळूमाफियांचे गुंडाराज# #शासकीय योजनांच्या लाभार्थ्यांशी मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस यांचा ‘लोक संवाद‘# #ओबीसींना शंभर टक्के शिष्यवृत्ती द्या

डोनेशन पर मेरिट का सवाल क्यों नहीं उठता : महेंद्र यादव

भोपाल – जब डोनेशन से लाखों रुपए देकर नालायक लोग डॉक्टर इंजीनियर बनते हैं तब कोई मेरिट का सवाल नहीं उठाता और न ही कोई आत्मदाह करने को आगे आता है, लेकिन जब वंचित तबके की भागीदारी के लिए आरक्षण की बात आती है तो ये मेरिटधारी मरने-मारने पर उतारू हो जाते हैं।भोपाल में रेलवे कोच फैक्टरी में 20 अप्रैल को ऑल इंडिया रेलवे एससी-एसटी एंपलाइज़ एसोसिएशन की ओर से डॉ अंबेडकर की 127वीं जयंती के अवसर मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए दिल्ली से आए वरिष्ठ पत्रकार महेंद्र यादव इन्होने कहा है ।पत्रकार महेंद्र यादव ने कहा की,  आरएसएस की गोद में बैठकर शिवराज सिंह चौहान ने व्यापम घोटाले के जरिए प्रदेश के हजारों प्रतिभाशाली बच्चों का भविष्य चौपट किया लेकिन किसी मेरिटवादी ने आत्मदाह नहीं किया। जबकि मंडल आयोग लागू होने के बाद आत्मदाह का लंबा सिलसिला चल निकला था।लोकतंत्र में राजशाही को संविधान और देश को चुनौती देने वाला बताते हुए महेंद्र यादव ने कहा कि देश में राष्ट्रपति के रहते कोई और राजा नहीं हो सकता लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया जैसे लोग बाकायदा राज्याभिषेक कराते हैं और अपने को राजा घोषित करते हैं। ऐसे लोगों को एकदम नकार देना चाहिए और इनकी जगह जेल में होनी चाहिए।समारोह के मुख्य अतिथि मुख्य कारखाना प्रबंधक मनीष अग्रवालने अपने भाषण में आधुनिक भारत के निर्माण में अंबेडकर के योगदान को याद किया और उनके बताए रास्ते पर चलने की जरूरत बताई।संचालक पुरुषोत्तम अठिया ने कार्यक्रम में आए सभी अतिथियों का स्वागत किया और डॉ अंबेडकर को याद करते हुए उनके विचारों को जीवन में उतारने का आग्रह सभी से किया।

ओबीसी महासभा के ललित कुमार ने ओबीसी और एससी-एसटी की एकता का आह्वान किया और उन लोगों की आलोचना की जो समाज के सभी हिस्सों को उचित भागीदारी देने का विरोध करते हैं। पत्रकार महेंद्र यादव ने मीडिया में भी केवल एक जाति के हावी होने की बात कही। उन्होंने कहा कि मीडिया का आज महत्व भी बढ़ा है लेकिन उसकी प्रतिष्ठा भी कम हुई है। इसके जिम्मेदार वो लोग हैं जो मीडिया में छाए हुए हैं। महेंद्र यादव ने कहा कि एससी, एसटी और ओबीसी तो दूर रहे, मीडिया में बैठे ब्राह्मण अन्य सवर्ण जातियों तक को उचित भागीदारी देने को तैयार नहीं हैं।मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कि मंडल आयोग के लागू होने के बाद आत्मदाह करने वालों की जिद थी कि उन्हें ही सारे मौके दो वरना वो मर जाएंगे, उन्हें अत्याचार करने की छूट दो, लोगों के सिर पर सवार होने की छूट दो वरना वे मर जाएंगे। सारे आरक्षण विरोधी व्यापम घोटाले के दौरान चुप्पी साधे रहे।

कांग्रेस को एससी, एसटी और ओबीसी का भाजपा से भी बड़ा विरोधी बताते हुए महेंद्र यादव ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया अब मुख्यमंत्री बनने के लिए एससी एसटी और ओबीसी के वोट मांग रहे हैं, लेकिन इन्हीं के पिता माधवराव सिंधिया और कांग्रेस के तब के अध्यक्ष राजीव गांधी ने मंडल आयोग की रिपोर्ट लागू करने पर वीपी सिंह को संसद में पानी पी-पीकर कोसा था। उन्होंने कहा कि हमें अपने समुदाय की प्रतिभाओं को पहचानना और उनका सम्मान करना होगा।

भोपाल में निशातपुरा में रेल कोच फैक्टरी (सडिपुका) में हुए इस भव्य कार्यक्रम में  रेलवे एससी एसटी एंपलाइज़ एसोसिएशन के ज़ोनल अध्यक्ष करतार सिंह, शाक्यपुत्र सागर भंते, मांझी समाज के प्रादेशिक संयोजक टीकाराम, डब्ल्यूसीआरईयू के ज़ोनल अध्यक्ष रवि जायसवाल, पप्पू यादव, ऑल इंडिया रेलवे एससी एसटी एसोसिएशन के अध्यक्ष बीपी खातरकर, कार्यकारी अध्यक्ष आरके बाथम, कोषाध्यक्ष श्यामलाल रामटेके, अतिरिक्त सचिव समय सिंह मीणा और कई जाने-माने लोगों के अलावा हजारों लोग मौजूद थे। कार्यक्रम में देर रात गीत-संगीत का कार्यक्रम भी हुआ।

Share