मुख्य बातम्या:
वृक्ष लागवडीचे उद्दिष्ट साध्य करण्यासाठी योग्य नियोजन करा-विभागीय आयुक्त पीयूष सिंह# #मेंढे यांच्या मूळगावासह मतदारसंघात कार्यकर्त्यांनी साजरी केली दिवाळी# #अंकुश शिंदे सोलापूरचे नवीन पोलीस आयुक्त, तर एम. बी. तांबडें नवे नक्षलचे पोलीस उपमहानिरिक्षक# #जिल्हा परिषद व पंचायत समिती सदस्य रिक्तपदांच्या पोटनिवडणुकांसाठी 23 जूनला मतदान# #कवयित्री पंचवटी गोंडाळे यांचा राज्यस्तरीय पुरस्काराने सन्मान# #वंचित बहुजन आघाडीमुळे दोन माजी मुख्यमंत्र्याना पराभवाचा फटका# #५0 हजारांची लाच स्वीकारणार्‍या मंडळ अधिकार्‍याला अटक# #निशुल्क एकदिवसीय उद्योजकता परिचय कार्यक्रम# #भारतीय सैन्यात महिला सैनिक पोलीस भरती# #खासदार भावना गवळी यांना विजयी प्रमाणपत्र प्रदान

बीजापुर में मारे गए पांच नक्सली, तीन जवान भी घायल

रायपूर। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के पहले चरण में आज मतदान किया जा रहा है। पहले चरण में 18 सीटों पर मतदान किया जा रहा है। अधिकतर सीटों पर अभी मतदान संपन्न भी हो गया है। इस बीच खबर आ रही है कि बीजापुर में पांच नक्सली मारे गए हैं। वही तीन जवान भी घायल भी हुए हैं।पुलिस अधिकारियों के मुताबिक घटना सोमवार की सुबह करीब साढ़े 11 बजे की है। पामेड़ इलाके के मेदीगुड़ा के जंगलों में सुरक्षा बल के जवानों की नक्सलियों की मुठभेड़ हो गई। जवानों द्वारा की गई जवाबी कार्रवाई में नक्सली जंगलों की आड़ लेकर भागने में कामयाब रहे।

डीआईजी रतनलाल डांगी ने खबर बस्तर को बताया कि पामेड़ एरिया में पुलिस व नक्सलियों के बीच बड़ी मुठभेड़ हुई है। काफी देर तक दोनों ओर से ताबड़तोड़ फायरिंग हुई। डीआईजी के मुताबिक हमारे जवानों ने अदम्य साहस दिखाते नक्सलियों को भागने पर मजबूर कर दिया। घटनास्थल पर मिले खून के धब्बों के आधार पर पुलिस मुठभेड़ में 4-5 नक्सलियों के मारे जाने या घायल होने का दावा कर रही है।
घायल जवानों के नाम…

सब इंस्पेक्टर लाल चंद घोसला
कांस्टेबल मोहन लाल
AC अमित देसवाल
हेड कांस्टेबल सुनील
कांस्टेबल चैतन्य

छत्तीसगढ़ में भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच पहले चरण का मतदान खत्‍म हो गया है। इसी के साथ मुख्यमंत्री रमन सिंह सहित 190 उम्मीदवारों का भाग्य ईवीएम में बंद हो गया है। नक्सलवादियों की तमाम कोशिशों के बावजूद पहले चरण में कुल 70 फीसदी वोटिंग हुई।कोंडागांव में 61.47%, केशकाल में 63.51%, कांकेर में 62%, बस्‍तर में 58%, दंतेवाड़ा 49%, खैरागढ़ में 70.14%, डोंगरगढ़ में 71% और खुज्‍जी में 72% फीसदी लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। पहले चरण में नक्सल प्रभावित आठ जिलों के मतदाताओं ने 190 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला कर ईवीएम में बंद कर दिया।

वोटिंग के बाद चुनाव आयोग ने दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि अब तक आए आंकड़ों के मुताबिक, पहले चरण में 70 फीसदी से अधिक वोटिंग हुई है। आयोग ने बताया कि प्रदेश के अंदरूनी इलाकों में स्थित पोलिंग बूथों के आंकड़े अभी सामने नहीं आए हैं और वोट प्रतिशत अभी और बढ़ सकता है।10 विधानसभा क्षेत्रों में सुबह सात बजे से दोपहर तीन बजे तक वोट डाले गए। वहीं, शेष आठ विधानसभा क्षेत्र जिसमें से राजनांदगांव जिले के पांच और बस्तर जिले के तीन विधानसभा क्षेत्र शामिल हैं में सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक वोट डाले गए।

Share