मुख्य बातम्या:
प्रत्येक नागरिकाला आरोग्य सेवा उपलब्ध करुन देणे हाच आपला ध्येय-आ.अग्रवाल# #ऑनलाईन व ऑफलाईन दोन्हीत अर्ज करणाèया शिक्षकामुळेच इतरावंर अन्याय# #ओबीसीच्या जनगणनेसाठी लढा हाच पर्याय-डाॅ.ज्ञानेश्वर गोरे# #बोदलबोडी-भजेपारला जोडणार्या वाघनदीवर होणार ६ कोटीचा पुल# #अण्णाभाऊ साठे शिष्यवृत्ती योजना २९ जूनपर्यंत अर्ज आमंत्रित# #महाराष्ट्राच्या बजेटमध्ये ओबीसींसाठी अंदाजे 20 हजार कोटींची तरतूद करावी : आमदार गजभिये# #वनक्षेत्रात अतिक्रमण करणाऱ्यांना सहकार्य करु नये- वनविभागाचे आवाहन# #२२ जूनला सडक/अर्जुनी येथे दिवाणी व फौजदारी न्यायालयाच्या नविन इमारतीचे उद्घाटन# #शिक्षणाच्या मुख्य प्रवाहात आणल्याशिवाय मुलांचे भविष्य घडणार नाही- गुणवंत पंधरे# #नागनदीचे प्रदूषण रोखण्यासाठी किती आंदोलने करावी?

सुकमा में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़; 14 नक्सली मारे गए

रायपुर,दि.6(वृत्तसंस्था).छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में सोमवार सुबह से सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ जारी है। इसमें अब तक 14 नक्सलियों के मारे जाने की खबर है। पुलिस को कोंटा और गोलापल्ली इलाके में 100 से ज्यादा नक्सलियों के मौजूद होने की सूचना मिली थी। इसके बाद स्पेशल टास्क फोर्स और डिस्ट्रिक्ट रिजर्व फोर्स के जवानों ने अभियान शुरू किया। मुठभेड़ वाली जगह से भारी संख्या में हथियार और गोला-बारूद मिला। बैकअप फोर्स को तैयार रखा गया है।

मुख्यमंत्री रमनसिंह ने दो अगस्त को नक्सलियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के संकेत दिए थे। उन्होंने कहा था कि नक्सली सरेंडर करके मुख्य धारा में आएं या मरने के लिए तैयार रहें। तीन अगस्त को दोरनापाल (सुकमा) में नक्सलियों ने बैनर लगाकर स्वीकार किया था कि एक साल में 206 नक्सली मारे गए, इनमें 72 महिलाएं थीं। सबसे ज्यादा नक्सली दंडकारण्य क्षेत्र में मारे गए हैं। यहां जवानों ने 150 नक्सलियों को ढेर किया।

Share